छत्तीसगढ़धर्मराशिफल - अध्यात्मराशिफल अध्यात्म

ज्योतिष की दृष्टि से इस बार का सावन बेहद शुभ, इस बार सावन सोमवार से शुरू और सोमवार पर ही होगा खत्म

सावन का महीना बेहद पावन माना जाता है।
यह पूरा महीना भोलेनाथ की पूजा के लिए अर्पित है।
शिव जी की पूजा से सभी परेशानियों का अंत होता है।

सावन का महीना बेहद पावन माना जाता है। यह पूरा महीना भोलेनाथ की पूजा के लिए अर्पित किया गया है। ज्योतिष की दृष्टि से इस बार का सावन बेहद शुभ माना जा रहा है, क्योंकि इस दौरान कई अद्भुत संयोग का निर्माण हो रहा है। वहीं, इस बार का सावन इस वजह से और भी खास है, क्योंकि इसकी शुरुआत सोमवार से हो रही है और समापन भी सोमवार को होगा, तो चलिए इस दौरान (Sawan 2024) बनने वाले कुछ अद्भुत संयोग के बारे में जानते हैं, जो इस प्रकार हैं –

सोमवार के दिन शुरू और समाप्त होगा सावन
वैदिक पंचांग के अनुसार, सावन का महीना दिन सोमवार, 22 जुलाई से शुरू होगा। वहीं, इसका समापन 19 अगस्त दिन सोमवार को रक्षाबंधन के शुभ अवसर पर होगा। इसके साथ ही सावन माह के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि 21 जुलाई, 2024 दिन रविवार को दोपहर 03 बजकर 46 मिनट पर शुरू होगी। उदयातिथि को देखते हुए 22 जुलाई से सावन शुरू होगा।

अद्भुत संयोग
इस बार सावन के पहले सोमवार यानी 22 जुलाई को प्रात: से लेकर रात्रि 11 बजकर 40 मिनट तक सर्वार्थ सिद्धि योग रहेगा। इसके अलावा प्रीति योग और श्रवण नक्षत्र योग रहेगा। इसके पश्चात अगले दिन 23 जुलाई यानी सुबह 05 बजकर 57 मिनट से दोपहर 12 बजकर 05 मिनट तक पुष्कर योग रहेगा।

शिव नमस्कार मंत्र
शम्भवाय च मयोभवाय च नमः शंकराय च मयस्कराय च नमः शिवाय च शिवतराय च।।

ईशानः सर्वविध्यानामीश्वरः सर्वभूतानां ब्रम्हाधिपतिमहिर्बम्हणोधपतिर्बम्हा शिवो मे अस्तु सदाशिवोम।।

महामृत्युंजय मंत्र
ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।

उर्वारुकमिव बन्धनान मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥

Related Articles

Back to top button