छत्तीसगढ़

जिला पंचायत के सीईओ लंगेह ने वीडियो कान्फ्रेसिंग से की समीक्षा, कोरोना वायरस से बचाव और रोकथाम के लिए दिए निर्देश

प्रतीक मिश्रा गरियाबंद- राज्य शासन के निर्देशानुसार कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए शासकीय कार्यालयों में बैठके आयोजित नहीं किये जाने के निर्देश है। वहीं विभाग के विकासीय कार्यो और गतिविधियों की समीक्षा भी किया जाना आवश्यक है।

ऐसे स्थिति में जिला पंचायत के सीईओ विनय लंगेह ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से सभी जनपदों में चल रहे कार्यो की समीक्षा की। आज जिला पंचायत के कक्ष में सीजी स्वान के माध्यम से पहली बार फिंगेश्वर, मैनपुर, छुरा विकासखण्ड के सीईओ एवं संबंधित अधिकारी को वीडियो कान्फ्रेसिंग से जोड़ते हुए विकासीय कार्यो की समीक्षा की गई।

उन्होंने कहा कि अब प्रत्येक सप्ताह वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए समीक्षा की जायेगी। देवभोग विकासखण्ड तकनीकी कारणों से वीडियो कान्फ्रेसिंग में नही जुड़ पाए। सीईओ लंगेह ने कोरोना वायरस से बचाव और रोकथाम के लिए किये जा रहे प्रयासों की जानकारी ली। साथ ही उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे, अनाज बैंकों माध्यम से ऐसे व्यक्तियों को आनाज उपलब्ध कराया जाए। जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, उन्हें प्रति धारक पांच किलो चावल अनिवार्य रूप से प्रदान करे।

लंगेह ने कहा कि जिलों के बार्डर में चेकपोस्ट की सतत् निगरानी करें। साथ ही पगडंडियों और कच्चे रास्तों के माध्यम से गांव की सीमा में घुसने वाले व्यक्तियों की पहचान कर उन पर आवश्यक कार्यवाही करें तथा उन्हें अनिवार्य रूप से होम क्वारेंटाईन में रखा जाए।

लंगेह ने मनरेगा अंतर्गत श्रमिकों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिये। मनरेगा अंतर्गत जल संग्रहण से संबंधित कार्यो को प्रारंभ करने के निर्देश दिए हैं। नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी तथा आजीविका से संबंधित कार्यो की भी समीक्षा की गई। वीडियो कान्फ्रेंस में गरियाबंद जनपद के सीईओ श्री हरिराम सिदार, डाॅ. सुधीर पंचभाई, कृषि, उद्यानिकी, बिहान के अधिकारी मौजूद थे।

Related Articles

Back to top button