देश विदेश

पंडित प्रदीप मिश्रा विवादित बयान को लेकर फिर सुर्खियों में, अब गोस्वामी तुलसीदास को कहा गंवार

पंडित प्रदीप मिश्रा अपने विवादित बयानों को लेकर पिछले कई दिनों से सुर्खियों में बने हुए हैं. पहले राधा रानी के जन्मस्थान को लेकर विवादित बयान दिए थे वहीं, अब उनका एक और वीडियो वायरल हो रहा है

Pandit Pradeep Mishra: मध्य प्रदेश के सीहोर जिले के कुबेरेश्वर धाम के पंडित प्रदीप मिश्रा पिछले दिनों खंडवा के ओंकारेश्वर में राधा रानी के जन्मस्थान और विवाह को लेकर कुछ विवादित बयान दिए थे. इससे ब्रज क्षेत्र के कई संत समाज उनसे नाराज हो गए थे. अब उनका सोशल मीडिया पर एक और वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह गोस्वामी तुलसीदास के लिए गंवार शब्द का इस्तेमाल करते हुए दिखाई दे रहे हैं. वायरल वीडियो में वह बोल रहे हैं कि हमको कुछ नहीं आता, हम तुलसीदास जी की तरह बिलकुल गंवार हैं.

कौन थे गोस्वामी तुलसीदास

गोस्वामी तुलसीदास (1511-1623) हिंदी साहित्य के महान कवि थे। इनका जन्म सोरों शूकरक्षेत्र, वर्तमान में कासगंज (एटा) उत्तर प्रदेश में हुआ था। कुछ विद्वान् उनका जन्म राजापुर जिला बांदा (वर्तमान में चित्रकूट) में हुआ मानते हैं। कुछ विद्वान तुलसीदास का जन्म गोण्डा जिला के सुकरखेत को भी मानते है। इन्हें आदि काव्य रामायण के रचयिता महर्षि वाल्मीकि का अवतार भी माना जाता है। श्रीरामचरितमानस का कथानक रामायण से लिया गया है। रामचरितमानस लोक ग्रन्थ है और इसे उत्तर भारत में बड़े भक्तिभाव से पढ़ा जाता है। इसके बाद विनय पत्रिका उनका एक अन्य महत्त्वपूर्ण काव्य है। महाकाव्य श्रीरामचरितमानस को विश्व के 100 सर्वश्रेष्ठ लोकप्रिय काव्यों में 46वां स्थान दिया गया।

राधा रानी के जन्मस्थान को लेकर टिप्पणी करने के बाद आए थे विवादों में

गौरतलब है कि बीते दिनों पं. मिश्रा ने अपने एक प्रवचन में कहा था कि राधा के पति का नाम अनय घोष, उनकी सास का नाम जटिला और ननद का नाम कुटिला था। राधा जी का विवाह छाता में हुआ था। राधा जी बरसाना की नहीं, रावल की रहने वाली थीं। बरसाना में तो राधा जी के पिता की कचहरी थी, जहां वह साल भर में एक बार आती थीं।

Related Articles

Back to top button